India
7,864,811
Total confirmed cases
Updated on October 25, 2020 7:34 am
Sunday, October 25, 2020
    Home दुनिया जानिए चीन के आसमान में क्यों दिखने लगे एक साथ तीन सूरज,...

    जानिए चीन के आसमान में क्यों दिखने लगे एक साथ तीन सूरज, कैसे हुई यह दुर्लभ घटना?


    उत्तर पूर्व चीन के शहर मोहे के लोग शनिवार को उठे तो यह सुबह उनके लिए बेहद खास और हैरान करने वाली थी। वे आसमान में एक साथ तीन सूरज देखकर अचरज में पड़ गए। हालांकि, आसमान में दिख रहे दो अन्य सूरज असली नहीं थे और ‘सन डॉग’ की वजह से उन्हें तीन सूर्य दिख रहे थे। इसे वायुमंडलीय प्रकाशीय घटना के रूप में जाना जाता है जिसकी वजह से लोगों को एक की बजाय अधिक सूर्य आसमान में दिखने लगते हैं। 

    यह दुर्लभ घटना लोगों को तीन घंटे तक दिखी। सुबह 6:30 से 9:30 बजे तक लोग इस दुर्लभ घटना को देखते रहे और कइयों ने इसे कैमरों में कैद करने की कोशिश की। पीपल्स डेली चाइना ने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो पोस्ट की है, जिसमें तीन सूर्य दिख रहे हैं। वीडियो में सूर्य के साथ दो चमकीले स्थान दिख रहे हैं जिन्हें ‘फैंटम सन’ भी कहा जाता है। 

    ‘सन डॉग’ नामक दुर्लभ घटना तब होती है जब पृथ्वी के वातावरण में बर्फ के क्रिस्टल बन जाते हैं, इसके बाद वे सूरज की रोशनी को प्रतिबिंबित करते हैं और चमकते हुए सूर्य प्रतीत होते हैं। यह हाल के सालों का सबसे लंबा सन डॉग माना जा रहा है। 

    वीडियो देखने के बाद इंटरनेट यूजर्स हैरान रह गए। एक ट्वीटर यूजर ने लिखा, ”जैसा कि मुझे कई बार शक होता है… चीन के पास सबकुछ है।” जनवरी में चीनी शहर फूयू में इस तरह की घटना दिखी थी। तब दो अतिरिक्त सूर्य आसमान में 20 मिनट तक दिखे। इस घटना के लिए कई तरह की परिस्थितियों की आवश्यकता होती है।
     





    Source link

    - Advertisment -

    Most Popular

    Karnataka: दोपहिया वाहन चालक हो जाएं सावधान, बिना हेलमेट के ड्राइविंग लाइसेंस होगा रद्द Karnataka two-wheeler driver should be careful, driving license will...

    कर्नाटक में अब बिना हेलमेट के दोपहिया वाहन चलाना काफी महंगा हो जाएगा। राज्य में अब चार साल से अधिक उम्र...

    अब 4 साल अधिक उम्र के बच्चों को भी लगाना होगा बाइक पर हेलमेट, वरना…

    यातायात के नियमों का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई भी जा रही है तो चालानों की रकम भी कई गुना बढ़ा दी...

    Recent Comments