India
9,534,964
Total confirmed cases
Updated on December 3, 2020 11:43 am
Thursday, December 3, 2020
    Home राज्य उत्तर प्रदेश काशी के दशाश्वमेध घाट पर 10 माह बाद पुराने स्वरूप में लौटी...

    काशी के दशाश्वमेध घाट पर 10 माह बाद पुराने स्वरूप में लौटी गंगा आरती


    काशी में 10 महीने से भी अधिक समय बाद दैनिक गंगा आरती अपने भव्य स्वरूप में लौट आई है। दशाश्वमेध घाट पर गंगा सेवा निधि की ओर से होने वाली आरती में शनिवार को सात अर्चकों ने मां गंगा की आरती भक्ति संगीत के बीच की। उल्लेखनीय है कि 18 मार्च से ही गंगा आरती सांकेतिक रूप से की जा रही थी। हालांकि लॉकडाउन 25 मार्च से लगाया गया था।

    दैनिक गंगा आरती में शनिवार को कोविड-19 की गाइडलाइंस का पूरा पालन किया गया। आरती के समय उपस्थित आस्थावानों को निर्धारित दूरी पर बैठाया गया। यही नहीं आरती से पहले और आरती के बाद आरती स्थल को सेनेटाइज भी किया गया। लाउडस्पीकर के माध्यम से यह लगातार उद्घोषित किया जा रहा था कि आरती में शामिल होने के लिए मास्क लगाना अनिवार्य है। बिना मास्क आरती में शामिल पाए जाने पर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। संस्था के अध्यक्ष सुशांत मिश्र ने बताया कि गंगा सेवा निधि द्वारा कोविड-19 का पालन हर हाल में किया जाएगा।

    आरती की शुरुआत उस समय पर हुई है जब प्रदेश सरकार कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दी गई तमाम तरह की ढील को कम कर रही है। प्रदेश में अब शादियों व अन्य समारोह में शामिल होने वालों की संख्या भी 200 से कम कर के 100 कर दी गई है। इस संबंध में नोएडा, गाजियाबाद और आगरा जैसे जिलों में आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। वहीं पूरे प्रदेश में भी शादी, समारोह या अन्य भीड़भाड़ वाले कार्यक्रमों में शामिल होने वालों की संख्या के संबंध में जल्द ही आदेश जारी हो सकते हैं।





    Source link

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments