India
11,079,979
Total confirmed cases
Updated on February 27, 2021 5:40 am
Saturday, February 27, 2021
    Home राज्य छत्तीसगढ़ पीयूष के अलग-अलग बयान से उलझी पुलिस लापता होने का रहस्य बरकरार

    पीयूष के अलग-अलग बयान से उलझी पुलिस लापता होने का रहस्य बरकरार


    Publish Date: | Sun, 17 Jan 2021 10:03 PM (IST)

    रायपुर। (नईदुनिया प्रतिनिधि)

    दंतेवाड़ा से चार दिनों तक लापता रहने के बाद अचानक घायल हालत में सामने आए ड्रोन बनाने वाले इंजीनियर पीयूष झा के संबंध में पुलिस का कहना है कि उनके अलग-अलग बयानों ने उलझा दिया है। पुलिस के मुताबिक तीन दिनों बाद भी पीयूष के लापता होने का रहस्य बरकरार है। शुक्रवार देर रात पीयूष दंतेवाड़ा से घायल अवस्था में कार चलाते हुए नारायणपुर जिला अस्पताल पहुंचे थे। इसके बाद शनिवार को उनके भाई पराग झा उन्हें राजधानी के देवेंद्र नगर स्थित श्री नारायणा हास्पिटल लेकर आए, जहां उनका इलाज चल रहा है। इलाज कर रहे डाक्टर का कहना है कि पीयूष को नशीली इंजेक्शन दिया गया था। फिलहाल उनकी हालत में सुधार है।

    दंतेवाड़ा कोतवाली पुलिस थाने में पीयूष झा की गुमशुदगी का मामला दर्ज किया गया है। दंतेवाड़ा कोतवाली टीआइ सौरभ सिंह ने बताया कि पीयूष झा नारायणपुर अस्पताल में भर्ती हुए थे, जहां उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया। इसके बाद बेहतर इलाज के लिए स्वजन उन्हें रायपुर लेकर चले गए। पूरी तरह से स्वस्थ होने पर पीयूष का विस्तृत बयान लेने के लिए पुलिस टीम रायपुर जाएगी। इसके बाद ही लापता होने का मामला साफ होगा, फिर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

    नारायणपुर पुलिस ने अस्पताल में पीयूष का प्रारंभिक बयान दर्ज किया था। पुलिस के मुताबिक बयान में पीयूष ने पहले बताया कि दंतेवाड़ा में कुछ लोगों ने उनके साथ मारपीट की थी, फिर कहा कि एक्सीडेंट होने से घायल होकर खुद ही कार चलाते हुए अस्पताल पहुंचा। पुलिस का कहना है कि पीयूष का बदलता बयान उलझाने वाला है। दंतेवाड़ा में एक्सीडेंट या मारपीट हुई है तो वे रास्ते में कोंडागांव, जगदलपुर में इलाज कराने क्यों नहीं रुके? खुद कार चलाकर नारायणपुर अस्पताल क्यों आए? ड्रोन निर्माता इंजीनियर होने के कारण पीयूष से क्षेत्र के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी परिचित हैं। बावजूद इसके उन्होंने किसी को कुछ नहीं बताया। सीधे नारायणपुर अस्पताल पहुंच गए।

    स्वजनों ने चुप्पी साधी

    पीयूष झा के रहस्यमय ढंग से लापता होने और फिर खुद ही सामने आने के मामले में स्वजनों ने भी चुप्पी साध ली है। भाई पराग झा का कहना है कि पीयूष ने नारायणपुर में पुलिस को अपना बयान दिया है। उसे फिलहाल इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। पूरी तरह स्वस्थ्य होने के बाद ही इस बारे में भाई से जानकारी लेगे कि आखिर हुआ क्या था।

    डाक्टर ने कहा, पीयूष को दिया गया था नशीला इंजेक्शन

    श्री नारायणा अस्पताल के डायरेक्टर सुनील खेमका ने बताया कि मरीज पीयूष झा की छाती में मवाद भरी थी, जिसे निकाल दिया गया है। शरीर में किसी प्रकार की चोट नहीं है। वह स्वस्थ हैं। सोमवार तक उसे डिस्चार्ज कर दिया जाएगा। इधर अस्पताल के चिकित्सक डा.शिरीष यदु ने बताया कि पीयूष को किसी तरह का नशीला इंजेक्शन दिया गया था। फिलहाल उनकी हालत खतरे से बाहर है। किसी तरह का आपरेशन, सर्जरी नहीं हुई है।

    Posted By: Nai Dunia News Network

    नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

    नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

    डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

    डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

     



    Source link

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments